गुरुवार, 15 सितंबर 2011





16 टिप्‍पणियां:

  1. आपका ब्लॉग पसंद आया प्रवीणा जी बैकग्राउंड का राजस्थानी स्वरूप इसे विशिष्ट बना रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  2. बालों की चांदी
    मुस्कुरा के पूछती है..
    खता आपने की
    सजा हमको...

    सुन्दर...
    ब्लॉग की सज सज्जा मनभावन है...
    सादर बधाई....

    उत्तर देंहटाएं
  3. मार्मिक प्रस्तुति - ब्लॉग शीर्षक और प्रष्ठभूमि बहुत ही आकर्षक - बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर प्रेममयी रचना बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  5. vandana said...
    आपका ब्लॉग पसंद आया प्रवीणा जी बैकग्राउंड का राजस्थानी स्वरूप इसे विशिष्ट बना रहा है
    Sunil Kumar said...
    सुंदर प्रेममयी रचना बधाई
    अरूण साथी said...
    भावपूर्ण रचना,आभार
    यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...
    बेहतरीन।
    सादर
    अब हम कुछ नहीं बोलेंगे हाँ....!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. कल 08/10/2011 को आपकी कोई पोस्ट!
    नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  7. khata aapne ki, saja hamko...

    wahhhhhhhhhhh.... bahot badhiya...

    http://harsinngar.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  8. kya kahene ...kya kya badhiya kahu...picture ko ..tumhari kahi bat ko...sach dil ko chu gai annu...

    उत्तर देंहटाएं

सखियों आपके बोलों से ही रोशन होगा आ सखी का जहां... कमेंट मॉडरेशन के कारण हो सकता है कि आपका संदेश कुछ देरी से प्रकाशित हो, धैर्य रखना..