सोमवार, 4 जुलाई 2011

आंसू जुदाई के....



2 टिप्‍पणियां:

  1. arae bhai kisme sama gayin hain aap...aisa mat kariye..ha..ha...
    on serious note...achha laga tumhe yahan dekh ker...ek rachna ke saath....

    उत्तर देंहटाएं
  2. रोकर न मुझको खोया करो.. आपका अंदाजे बयां भी कुछ खास ही रहता है...

    उत्तर देंहटाएं

सखियों आपके बोलों से ही रोशन होगा आ सखी का जहां... कमेंट मॉडरेशन के कारण हो सकता है कि आपका संदेश कुछ देरी से प्रकाशित हो, धैर्य रखना..