गुरुवार, 20 फ़रवरी 2020

देवउठनी एकादशी

देवठन एकादशी
इसे ‘तुलसी विवाह ' के नाम से भी जाना जाता है। यह पर्व कार्तिक मास में मनाया जाता है और इस दिन ईख का मंडप बनाकर विधिवत तुलसी की पुजा और शालिग्राम या भगवान विष्णु के साथ विवाह किया जाता है।
यह पर्व एक बहुत ही महत्वपूर्ण संदेश देता है, तुलसी का पौधा हिन्दुस्तान के हर घर के आंगन में लगाया जाता है, बहुत ही गुणकारी है, हजारों साल से आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में उपयोग किया जाता है। इसमें  सर्दी-जुकाम ,पेट , किडनी स्टोन तथा ९०% बिमारियों को सही करने की शक्ति है। ये प्रर्यावरण को भी साफ़ करती है इसलिए तुलसी हमारे लिए पूजनीय है।
लेखिका -संध्या ओझा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सखियों आपके बोलों से ही रोशन होगा आ सखी का जहां... कमेंट मॉडरेशन के कारण हो सकता है कि आपका संदेश कुछ देरी से प्रकाशित हो, धैर्य रखना..